.. और इस तरह एक परिवार के आए अच्छे दिन, रहने के लिए झोंपड़े की जगह मिलेगा पक्का मकान

हिमाचल प्रदेश

हिमाचल प्रदेश के सिहोल में रहने वाला एक परिवार जल्द ही बीपीएल (गरीबी रेखा से नीचे) श्रेणी में शामिल होगा. इसके साथ ही इस परिवार को रहने के लिए बांस के झोंपड़े की जगह पक्का मकान भी मिलेगा. वर्तमान में पालमपुर उपमंडल के सिहोल गांव में चार सदस्यीय यह परिवार बांस के बने करीब 100 वर्गफुट के कमरे में रहता है.

परिवार के आर्थिक हालात अच्छे नहीं 
यह परिवार करीब तीन साल से जिस झोंपड़े में रह रहा है, वहां न तो बिजली है और ना ही पानी की कोई व्यवस्था है. घर का मुखिया मुल्तान सिंह दिहाड़ी मजदूरी करता है. उसकी पत्नी अनीता लोगों के घरों में काम करती है. इनके दो बच्चे भी हैं. ग्राम पंचायत भी इनके आर्थिक हालातों से भलीभांति वाकिफ है, लेकिन परिवार का नाम आजतक बीपीएल सूची में दर्ज नहीं हो पाया.

समाजसेवी संस्थाओं ने बढ़ाया मदद का हाथ 

बीते 15 मार्च को चैनल पर इस बारे में खबर दिखाए जाने के बाद कुछ समाजसेवी संस्थाओं ने परिवार की मदद करने लिए अपने हाथ बढ़ाए थे. इस मामले की खबर मिलने के बाद जिला ग्रामीण विकास अभिकरण की ओर से मुल्तान सिंह के परिवार को बीपीएल लिस्ट में शामिल करने और पक्के मकान के निर्माण के लिए सहायता देने हेतु पालमपुर प्रशासन को पत्र लिखा गया है.

मुल्तान ने अन्य गरीब परिवारों की मदद की बात कही  
वहीं, मुल्तान सिंह और उसके परिवार ने सरकार से मांग की है कि प्रदेश में उनके जैसे और भी परिवार हैं, जिनकी समस्याओं का जल्द से जल्द निदान होना चाहिए.


Comment






Total No. of Comments: