कभी फिल्मी दुनिया में नाम कमाना चाहते थे आज हैं डिजिटल बाबा के नाम से मशहूर

हिमाचल प्रदेश

जिस उम्र में युवा आधुनिक युग में अपनी एक पहचान बनाना चाहता है उस उम्र में गोरखपुर के रहने वाले राम शंकर ने आध्यात्म का रुख कर लिया. फ़िल्मी दुनिया में कभी अपना नाम कमाने की इच्छा रखने वाले 20 वर्षीय राम शंकर आज डिजिटल बाबा के नाम से जाने जाते हैं.

राम शंकर के सोशल मीडिया में हजारो फैन हैं. इनका हिमाचल से भी गहरा नाता है. राम शंकर धर्मशाला में करीब 3 साल रहे हैं और यहां के लोग भी इन्हें कमा पर फॉलो करते हैं. स्थानिय लोग राम शंकर को स्वामी राम शंकर के नाम से जानते है. स्वामी राम शंकर ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय विश्वविद्यालय गोरखपुर से बी.काम. तक की पढ़ाई की उसके बाद आध्यात्म का रुख कर लिया.

स्वामी राम शंकर युवाओ से बात करके उन्हें आध्यात्म की ओर रुख करने के लिए प्रेरित करते हैं. स्वामी राम शंकर दास महाराज का जन्म 1 नवम्बर सन् 1987 को उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले के ग्राम खजुरी भट्ट में हुआ इनकू पांचवी तक की पढ़ाई गांव के निकट विद्यालय में सम्पन्न हुई.

आंतरिक वैराग्य प्रबल होने के कारण 11 नवम्बर वर्ष 2008 को अयोध्या धाम में स्थित लोमश आश्रम के महन्त स्वामी शिवचरण दास महाराज द्वारा वैष्णव परम्परा में इन्होंने वैराग्य-संन्यास की दीक्षा ली और अब ये लोगों को आध्यात्म का ज्ञान देते हैं.


Comment






Total No. of Comments:
fppfnijlhs 07/11/2020